SAMAGRA PORTAL

समग्र सामाजिक सुरक्षा कार्यक्रम के माध्यम से राज्य शासन द्वारा संचालित योजनाओं की हितग्राहियों तक पहुंच को सहज एवं सरल तथा इनके लक्षित परिणामों को प्रभावी बनाने एवं योजनाओं का सरलीकरण किया जा रहा है ।

Samagra

विभिन्न विभाग यथा श्रम, आदिम जाति कल्याण, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, स्कूल शिक्षा, नगरीय प्रशासन, पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंखयक कल्याण एवं कृषि विभाग आदि के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ विभिन्न बैठकों के विश्लेषण के आधार पर माननीय मुख्यमंत्रीजी के अवलोकन एवं मार्गदर्शन प्राप्त करने के लिए दिनांक 10 अक्टूबर 2010 एवं 30 जून 2011 में माननीय मुख्यमंत्रीजी द्वारा दिये गये सुझावों एवं मार्गदशन के आधार पर संक्षेपिका के प्रारूप के अनुसार 4 समूहों (टास्क फोर्स) निम्नानुसार गठित किये गयेः-

समूह समूह के अंतर्गत अवयव समूह प्रमुख
प्रथम समूह प्रसूति व्यय सहायता, प्रसूति अवकाद्गा सहायता, चिकित्सा सहायता प्रमुख सचिव, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग
द्वितीय समूह छात्रवृत्ति एवं शिष्यावृत्ति एवं शिक्षा प्रोत्साहन प्रमुख सचिव, आदिम जाति कल्याण विभाग
तृतीय समूह पेंशन, विवाह प्रोत्साहन, बीमा एवं अनुग्रह एवं अंत्येष्टि प्रमुख सचिव, सामाजिक न्याय विभाग
चतुर्थ समूह पारदर्शिता एवं कम्प्यूटरीकृत जानकारी बेवसाईट पर उपलब्ध कराना, हितग्राहियों का डाटाबेस तैयार कर, उनके खातों में ई बैंकिंग के माध्यम से राशि पहुंचाने के लिए एक कार्ड तैयार कर प्रदाय करने सचिव,सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग

राज्य में श्रमिक संवर्ग, गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले लोगों, वृद्धजनों, कन्याओं, विधवाओं, परित्यक्ताओं और निःशक्तजनों के कल्याण से संबंधित विभिन्न योजनाएं संचालित की जा रही है। माननीय मुख्‍यमंत्री जी द्वारा आयोजित विभिन्न क्षेत्र की पंचायतों की अनुशंसाओं को दृष्टिगत रखते हुए शासन द्वारा संबंधित प्रशासकीय विभागों के माध्यम से बहुत सी नयी योजनाएं प्रारंभ की गई है।

''समग्र सामाजिक सुरक्षा कार्यक्रम'' स्थापित करने हेतु वर्ष 2010 में विधानसभा में पारित संकल्प क्रमांक-37 के माध्यम से इन सभी एवं राज्य एवं केन्द्र शासन द्वारा संचालित योजनाओं की हितग्राहियों तक पहुंच को सहज एवं सरल तथा इनके लक्षित परिणामों को प्रभावी बनाने का प्रयास हाथ में लिया गया है। यह एक अंतरविभागीय और शासन-व्यापी कवायद है, जिसमें सभी विभागों की पहल एवं साझेदारी अपेक्षित है ।

शासन द्वारा इस तरह चलाए जा रहे जनकल्याणकारी कार्यक्रमों का लाभ जहां राज्य की आम जनता, विशेषकर समाज के कमजोर वर्गो, विशिष्ट काम-काज में लगे महिलाओं एवं पुरूषों को मिल रहा है वहीं अब इन कार्यक्रमों के बीच बेहतर तालमेल, इनके विभिन्न अवयवों को निर्धारित वित्तीय दरों के बीच समानता अथवा एकरूपता, सेवा प्रदाय प्रक्रियाओं में सरलीकरण, एक ही सेवा प्रदाय बिन्दु से समग्र सेवाओं की उपलब्धता एवं इनके बेहतर प्रचार-प्रसार तथा मॉनिटरिंग की आवश्यकता महसूस की जा रही है।

मध्यप्रदेश शासन की निम्नांकित कार्यक्रमों के बीच बेहतर तालमेल एवं इनके अवयवों की भिन्नताओं को यथासंभव दूर करने के लिए उनका गहन परीक्षण किया गया

  • म.प्र. मुख्‍यमंत्री मजदूर सुरक्षा योजना-2007
  • म.प्र.शहरी घरेलू कामकामी महिला कल्याण योजना-2009
  • म.प्र.मुख्‍यमंत्री हाथठेला एवं साइकिल रिक्शा चालक योजना-2009
  • म.प्र.हम्माल एवं तुलावटी कल्याण योजना-2008
  • म.प्र.भवन एवं अन्य संनिर्माण कर्मकार मण्डल के संचालित योजनाएं-2004
  • मुख्‍यमंत्री कन्यादान योजना
  • पंडित दीनदयाल अन्त्योदय उपचार योजना
  • आम आदमी बीमा योजना/जनश्री बीमा योजना
  • छात्रवृत्ति योजनाएं/ पेंशन योजनाएं

संकल्प-37 के वृह्‌द उद्‌देश्यों को प्राप्त करने के लिये निम्नांकित व्यापक उद्‌देश्य तय किये गये हैं:-

  • योजना एवं सहायता राशि की दरों का युक्तियुक्तकरण।
  • नियम एवं प्रक्रिया को सरलीकृत करना।
  • पारदर्शिता एवं कम्प्यूटरीकृत जानकारी वेबसाईट पर उपलब्ध कराना।
  • हितग्राही के लिए यथा संभव एक ही स्थान पर सभी सुविधा मुहैया कराना।
  • योजना एवं कार्यक्रम की जानकारी का प्रचार-प्रसार करना।